स्वागत, Wednesday , Dec , 19 , 2018 | 04:00 IST

  • Screen Reader
  • Skip to main content

Current Size: 100%

प्रेसिजन इंजीनियरिंग और मैट्रोलोजी

देश के पूर्वी हिस्से में स्थित उद्योग, इससे बेहद लाभान्वित हैं क्योंकि वे अपने यंत्रों और उपकरणों को सीएसआईआर-सीएमईआरआई से अंशांकित करा सकते हैं, जिसके पास राष्ट्रीय मानक के लिए योग्यता है। इसके अलावा, विशेष रूप से उत्पाद विकास के लिए, आंतरिक (इन-हाउस) और प्रायोजित अनुसंधान एवं विकास के काम में डिज़ाइन किए गए आयामों और भागों तथा घटकों के निरीक्षण के तेजी से और विश्वसनीय माप के कारण कम समय लगता है। अप्रत्यक्ष लाभ हैं:

  • अनुसंधान एवं विकास के लिए उत्पादन घटकों का उच्च परिशुद्धता निरीक्षण
  • मशीनों में बहु अक्षीय प्रणालियों का समायोजन और संरेखण
  • जटिल और आंतरिक भागों के सटीक आयामों की उपलब्धि
  • तेज और लचीली संयोजन और स्थिति निर्धारण प्रणालियों का विकास

 

इस समूह की कुछ प्रमुख अंशांकन सुविधाएं हैं-1 एनएम रिजोल्यूशन के साथ लंबाई मापने वाले सार्वभौमिक यंत्र, 1 माइक्रोन (µm) रिजोल्यूशन सहित प्रोफ़ाइल प्रोजेक्टर, 0.01 एनएम रिजोल्यूशन के साथ गैर-संपर्क 3 डी प्रोफाइलर, 0.01 माइक्रोन (µm) के साथ सीएनसी कोऑर्डिनेट मेजरिंग मशीन, 5 सेकंड रिजोल्यूशन के साथ रैखिक अक्ष अंशांकन के लिए 1 पीपीएम सटीकता सहित लेजर इंटरफेमोमीटर, स्लिप गेज कैलिब्रेटर, स्केल और टेप को मापने की मशीन आदि के साथ आयामी मैट्रोलोजी में ऑटोकूलिमेटर; ई2 से एम2 वर्ग वज़न, सटीक मॉस संतुलन कैलिब्रेटर, कांच के बने विभिन्न पदार्थ,  द्रव्यमान, मात्रा और घनत्व में घनत्व हाइड्रोमीटर और मैट्रोलोजी एवं दबाव मापक, मृत वजन परीक्षक, पंप सहित दबाव कैलिब्रेटर, दबाव मैट्रोलोजी के लिए दबाव ट्रांसड्यूसर, आदि।

यह समूह औसतन एनएबीएल प्रत्यायन प्रतीक के साथ भारतीय उद्योगों के लिए वर्ष में 300 से अधिक अंशांकन रिपोर्ट जारी करता है, जिन्हें एमआरए की वजह से पूरे विश्व में स्वीकार किया जाता है।

गतिविधियाँ:

सीएमईआरआई का मेट्रोलॉजी समूह दो दिशाओं में काम कर रहा है। एक अनुसंधान एवं विकास की गतिविधियों पर और दूसरा, कला अवसंरचनात्मक सुविधाओं की नवीनतम अवस्था के साथ अंशांकन गतिविधियों पर है।

अनुसंधान एवं विकास गतिविधियाँ:

संस्थान उत्पाद विकास कार्य, प्रायोजित और सहयोगी परियोजनाओं में भाग लेता है जो मैट्रोलॉजी और सीएसआईआर नेटवर्क परियोजनाओं से संबंधित है।

यह समूह उपकरण की स्थिति की निगरानी, सूक्ष्म संरेखण प्रणाली के विकास, डिजिटल इमेज प्रोसेसिंग के अनुप्रयोग, माइक्रो मैट्रोलॉजी और सूक्ष्म-नैनो बल प्राप्ति पर विकास कार्यों जैसी अनुसंधान स्थितियों पर काम कर रहा है।

अंशांकन गतिविधियाँ:

सीएमईआरआई की मैट्रोलोजी प्रयोगशाला, परीक्षण और अंशांकन कार्य करने के लिए भारतीय मानक ब्यूरो द्वारा मान्यता प्राप्त एक अग्रणी प्रयोगशाला है। सीएमईआरआई के पास माप मानकों की संरक्षक, राष्ट्रीय भौतिक प्रयोगशाला, नई दिल्ली के राष्ट्रीय मानकों की पहचान है। सीएमईआरआई व्यक्तिगत पेशेवर दक्षता के उच्च परिग्रहण, परिशुद्धता माप के मूल नियमों के साथ लंबे समय से परिचित और कड़े प्रक्रियात्मक पालन के माहौल के साथ आयामी मैट्रोलोजी के क्षेत्र में उत्कृष्टता प्रदान करता है, जो ग्राहक को परिपूर्ण सेवाओं की गारंटी के अलावा मूल्य वर्द्धन भी प्रदान करता है।

सीएमईआरआई उद्योग को ये मेट्रोलॉजिकल सेवाएं प्रस्तुत करता है जो उद्योगों के लिए समय और लागत प्रभावी समाधान सुनिश्चित करती हैं, इसके साथ-साथ यह उद्योगों को इस क्षेत्र में सीएमईआरआई के लंबे अनुभव से प्राप्त लाभों का आश्वासन भी देती हैं। हम उद्योगों और शिक्षाविदों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम भी प्रदान करते हैं। विभाग भारत के मेट्रॉलॉजी सोसायटी (एमएसआई) के पूर्वी खंड में है।

CAPTCHA
This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.
Image CAPTCHA
Enter the characters shown in the image.

आखरी अपडेट : 1 Aug, 2018