स्वागत, Wednesday , Jun , 19 , 2019 | 02:15 IST

  • Screen Reader
  • Skip to main content

Current Size: 100%

Profile Details

  • डॉ हरीश हिरानी

    पद : निदेशक
    विशेषीकृत : Inclusive Innovation
    सीएसआईआर में शामिल होने पर : 16/3/2016
    सीएमईआरआई में शामिल होने पर : 16/3/2016

प्रो. (डॉ.) हरीश हिरानी वर्तमान में सीएसआईआर-केन्द्रीय यांत्रिक अभियांत्रिकी अनुसंधान संस्थान, दुर्गापुर के निदेशक हैं। उन्होंने आईआईटी दिल्ली से  ग्रहणाधिकार (लीन) लेने के बाद दिनांक 16 मार्च 2016 से  अपना पदभार संभाला। सीएसआईआर-सीएमईआरआई के निदेशक के रूप में कार्यभार ग्रहण करने से पहले वे जेईई (एडवांस्ड) उपाध्यक्ष (2014-2016) और आईआईटी, दिल्ली में प्रोफेसर के तौर पर कार्य कर रहे थे ।

उन्होंने सन 1992 में राजस्थान तकनीकी विश्वविद्यालय (जिसे पहले राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज के नाम से जाना जाता था) से यांत्रिक अभियांत्रिकी में बी.ई. किया और सन 1994 में आईआईटी रुड़की से मशीन डिजाइन में एमई और सन 1990 में आईआईटी, दिल्ली से पीएचडी किया |

अपनी शोध उपलब्धियों के लिए प्रोफेसर हरीश हिरानी को प्रतिष्ठित "ब्वाएज कास्ट फैलोशिप" प्रदान किया गया। उनके तीन वैज्ञानिक पत्रों को सर्वश्रेष्ठ शोध पत्र पुरस्कार प्राप्त हुआ है। उन्होंने पांच पेटेंट भी  हासिल किया है | 

कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय प्रेस द्वारा प्रकाशित "अनुप्रयोग सहित इंजीनियरिंग ट्राइबोलॉजी के बुनियादी सिद्धांत" पर उनकी पुस्तक सफल साबित हुई है । उन्होंने जीवन के सभी क्षेत्रों से शिक्षार्थियों के लिए 25  से अधिक अल्पकालिक प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों का आयोजन किया और उसे संचालित किया।

अध्यापन और अनुसंधान में 16 साल के ठोस अनुभव के साथ प्रोफेसर हरीश हिरानी का मुख्य लक्ष्य भारतीय जनता के लाभ के लिए वैज्ञानिकों/शोधकर्ताओं और शिक्षार्थियों के बीच विकसित हो रहे नवीन उत्पादों के महत्व को उजागर करना रहा है | इन लक्ष्यों को प्राप्त करने हेतु उन्होंने "डिज़ाइन पद्धति" और "मशीनों का डिजाइन" पाठ्यक्रम शुरू किया गया। इन पाठ्यक्रमों के जरिए अंतिम भौतिक परिणाम प्राप्त करने तक आवश्यक समस्या-समाधान हेतु रूपरेखा तैयार किया जाता है और सभी आवश्यक चरणों का वर्णन किया जाता है |


शैक्षिक कैरियर: B.E., M.E., Ph.D.